रीढ़ सीधी रखिए Reedh Seedhee Rakhie By Avinash Ranjan Gupta


रीढ़ सीधी रखिए
आप अपने पूरे जीवन में कभी भी एक ऐसे आदमी की तलाश नहीं कर सकते जिसके जीवन में कभी भी कोई समस्या नहीं आई हो। मगर आपको ऐसे बहुत सारे आदमी मिल जाएँगे जिनकी सफलता के पीछे उनकी समस्या ही थी क्योंकि ऐसे व्यक्ति समस्याओं को चुनौती के रूप में स्वीकार करते हैं। हम सब अपने जीवन में कभी न कभी मायूस होते हैं और कुछ पल तो ऐसे भी होते हैं कि  न चाहते हुए भी मायूसी आ ही जाती है। कुछेक स्थितियों को छोड़कर हम मायूसी से बाहर निकल सकते हैं और फिर से नई शुरुआत कर सकते हैं बस ज़रूरत है तो हमें अपने आप में थोड़ी तब्दीली लाने की। जब कभी हम और आप मायूस हों तो बस अपनी रीढ़ (Backbone) सीधी कीजिए और उत्साह से भरे विचारों को अपने ध्यान में लाइए। तरोताज़ा हो जाइए क्योंकि सचमुच आप ऐसा कर सकते हैं। अगर आप किसी चीज़ को लेकर दुखी हो सकते हैं तो आप किसी चीज़ को याद करके ज़िंदादिल भी हो सकते हैं। बस आपको इतना याद रखने की ज़रूरत है कि सीधी रीढ़ वाला आदमी कभी मायूस नहीं होता है।             

Comments

Post a comment